Introducing San Francisco History of the Tower of London Grand Central Station Visitors Guide

Monday, August 29, 2016

Geography GK

कोपेन द्वारा किया गया विश्व जलवायु का वर्गीकरण सामान्यतः सरल व सबसे ज्यादा प्रभावी है। इसके जलवायु को वार्षिक और मासिक तापमान और वर्षण के आधार पर बांटा गया है| वर्गीकरण का आधार, तापमान व वर्षण का मासिक व वार्षिक मान/ स्थिति है। कोपेन ने पुरे विश्व के जलवायु को पांच भागों में बांटा है जो अंग्रेजी के पांच बड़े अक्षरों से इंगित किया जाता है, वे इस प्रकार से है:



A: उष्णआद्र जलवायु (Tropical Moist Climates) - वर्ष भर तापमान 18℃ से ज्यादा व लगभग सालों भर वर्षा.



B: शुष्क जलवायु (Dry Climates) - गर्म शुष्क जलवायु व सैलून भर नमी की कमी.



C: उष्ण आद्र समशीतोष्ण जलवायु (Moist Mid) - सामान्य शीत ऋतु वाली मध्य अक्षांशीय आद्र जलवायु.



D: मध्य अक्षांशीय शीत जलवायु (Moist Mid) - सबसे ठंढे महीने का औसत तापमान 3℃ से कम.



E: ध्रुवी जलवायु (Polar Climates) - ग्रीष्म ऋतु अनुपस्थित रहती है.



उष्णकटबंधीय आद्र जलवायु (Tropical Moist Climates)



उष्णकटिबंधीय आद्र जलवायु का विस्तार विषुवत रेखा के दोनों तरफ 15°से 25°अक्षांस के बीच है। इस जलवायु प्रदेश वाले भाग में पुरे साल प्रत्येक महीने का औसत तापमान 18℃से अधिक रहता है। वार्षिक वर्षा की मात्रा 1500 मिलीमीटर से अधिक रहती है।वर्षा,तापमान व शुष्कता के आधार पर इस जलवायु प्रदेश को तीन उपवर्गों में विभाजित किया है। यहाँ मासिक तापांतर 3℃ से अधिक नहीं हो पता है क्योंकि इस क्षेत्र में सूर्यताप की अधिक मात्रा प्राप्त होती है तथा दोपहर बाद कापसी व कापसीवर्षी बादल छा जाते है और मूसलाधार वर्षा होती है जिससे नमी बानी रहती है। दिन का तापमान सामान्यतः 32℃ व रात का तापमान 22℃ के आसपास होता है। जाड़े के समय में सवाना जलवायु का प्रभाव देखने को मिलता है। सवाना प्रदेश में ग्रीष्म काल में 1000 मिलीमीटर से अधिक वर्षा प्राप्त नहीं होती है। इस जलवायु प्रदेश में धरातल का 20% व महासागर का 40%भाग को घेरे हुए है।



शुष्क जलवायु (Dry Climates)



इस जलवायु की मुख्य विशेषता यह है कि वाष्पीकरण की तुलना में वर्षा बहुत ही कम होती है। इस प्रदेश का विस्तार 20°-35°उत्तरी अक्षांश के बीच है। जो कि महाद्वीप के बड़े हिस्से पर फैला है। यहाँ मध्य अक्षांश के लगभग चारों ओर पर्वतों की सीरीज पाई जाती है।तापमान व अधिकतम वर्षा के आधार पर दो प्रकार की जलवायु में बांटा गया है।


मरुस्थलीय जलवायु: इस जलवायु प्रदेश की मुख्य विशेषता है जल की कमी। यह कमी प्रभावी वर्षा के कारण होती है। सहारा,अरब,थार,दक्षिण-पश्चिम यूएसए व आस्ट्रेलिया में इसी प्रकार की जलवायु पायी जाती है। यहाँ मरुद्भिद् वनस्पति पायी जाती है। इसके अंदर लघु जलवायु क्षेत्र के लिए 'h' व 'k' अक्षर का प्रयोग किया जाता है। h जहाँ का औसत वार्षिक तापमान 18℃ से कम तथा k जहाँ का औसत तापमान 18℃ से कम हो।
स्टेपी जलवायु: यहाँ भी अल्प वर्षा होती है। वर्षा की वार्षिक मात्रा 30 सेंटीमीटर होती है।औसत वार्षिक तापमान 21℃ व तापांतर 13℃ होती है। इस प्रदेश में घासों की बहुलता है जो सम्पूर्ण धरातल का 14%भाग पर फैला है। इसके निम्न अक्षांशों वाले भाग में गर्मी मे वर्षा होती है जबकि इसके उच्च अक्षांशों में शीतकाल में वर्षा होती है।





आद्र शीतोष्ण कटिबंधीय जलवायु (Moist Subtropical Mid-Latitude Climates)



इस जलवायु प्रदेश में सामान्यतः ग्रीष्म ऋतु आद्र और शीत ऋतु मृदुल होती है। इसका विस्तार 30-50° अक्षांशों के मध्य महाद्वीप के दोनों किनारों पर है। ऋतुओं के अनुसार परिवर्तन बहुत ही स्पष्ट विशेषता है। शीतकाल में मध्य अक्षांशीय क्षेत्रों में चक्रवातों का प्रभाव रहता है। ग्रीष्मकाल में अधिकतम तापमान 10℃ से अधिक रहता है। इस जलवायु प्रदेश को तीन उपवर्गों में विभाजित किया गया है, भूमध्यसागरीय,चीनी तुल्य व पश्चिमी यूरोपीय जलवायु। भूमध्य सागरीय जलवायु दोनों गोलार्द्धों में 30° से 45° अक्षांशों के बीच महाद्वीप के पश्चिमी किनारों पर पायी जाती है।



इसका विस्तार भूमध्य सागर के तटवर्ती क्षेत्र,कैलिफोर्निया,पोर्टलैंड,ओरेगन,मध्य चिली,न्यूजीलैंड के उत्तरी द्वीप आदि क्षैत्रों में पायी जाती है। चीनी तुल्य जलवायु दोनों गोलार्द्धों में 25°से45° अक्षांशो के बीच महाद्वीपों के पूर्वी तटवर्ती क्षेत्रों में पायी जाती है।यहाँ सबसे उष्ण महीने का औसत तापमान 27℃ चला जाता है। रातें उमस भरी होती है। शीतकाल मृदुल होती है।



औसत वार्षिक वर्षा 100 सेंटीमीटर तक होती है।शीत ऋतु की तुलना में ग्रीष्म ऋतु में अधिक वर्षा होती है।पश्चिमी यूरोपीय तुल्य जलवायु 40°से65°अक्षांशों के बीच महाद्वीप के पश्चिमी तटीय भागों में पायी जाती है।गर्मी के महीनों में औसत तापमान 15℃ से 20℃ और शीत ऋतु में 4℃ से 10℃ के बीच रहता है।वार्षिक औसत वर्षा 140 सेंटीमीटर के लगभग होती है।



आद्र शीतोष्ण कटिबंधीय जलवायु (Moist Continental Mid-latitude Climates):



इस जलवायु का विस्तार केवल उत्तरी गोलार्द्ध में 50° से 70° अक्षांशों के बीच है। ठंडी और लंबी शीतऋतु व अधिक तापांतर इसकी विशेषता है।ग्रीष्म ऋतु छोटी व मृदुल होती है तापमान 10℃ से 15℃ के बीच रहता हैै और ठंड के महीने में तापमान -3℃ तक चला जाता है।इसे तीन उपवर्गों में बाटा गया है-टैगा जलवायु, पूर्वी समुद्रतटीय शीत जलवायु व महाद्वीपीय जलवायु।शीतकाल ध्रुवीय शीत वायु राशियाँ तेज गति से चलती है जिसमें हिम भरा होता है।





ध्रुवीय जलवायु (Polar Climates)



यह जलवायु 70° अक्षांश से ध्रुवों तक पायी जाती है। इस प्रदेश में उष्णतम महीने का तापमान 10℃ से अधिक नहीं हो पता है।यह उत्तरी ध्रुव के तटवर्ती क्षेत्र,उत्तरी अमेरिका,यूरोप,ग्रीनलैंड व एशिया के उत्तरी भगवन में फैला है। इसे दो उपवर्गों में बांटा गया है- टुण्ड्रा जलवायु व हिमाच्छादित प्रदेश की जलवायु। टुण्ड्रा प्रदेश में वार्षिक औसत तापमान -9℃ या इससे भी कम होने के कारण मृदा के अंदर का भाग स्थायी तुषार भूमि के रूप में जमा हो जाती है।


















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

Rajasthan GK Questions and answer

Rajasthan GK Questions and answer
1. टेलीविजन का अविष्कार किया-जे. एल.
बेयर्ड
2. रडार का अविष्कार किया-टेलर एवं यंग
3. गुरूत्वाकर्षण की खोज किसने किया-न्युटन
ने
4. सिरका व अचार में कौन सा अम्ल होता है-
एसिटिक अम्ल
5. निबू एवं नारंगी में कौन सा अम्ल होता है-
साइट्रिक अम्ल
6. दूध खट्टा होता है-उसमें उपस्थित लैक्टिक
अम्ल के कारण
7. मतदाताओं के हाथ में लगाये जाने
वाली स्याही होती है-सिल्वर नाइट्रेट
8. पृथ्वी अपने अछ पर घूमती है-पश्चिम से
पूर्व की ओर
9. प्याज व लहसुन में गंध होता है-उसमें
उपस्थित पोटैशियम के कारण
10. x- किरणों की खोज की-रोन्ट्जन ने
11. स्कूटर के अविष्कारक-ब्राड शा
12. रिवाल्वर के अविष्कारक-कोल्ट
13. समुद्र की गहराई नापते हैं-अल्टी मीटर
द्वारा
14. डी.एन. ए. संरचना का माडल दिया-वाटशन
व क्रिक ने
15. प्रयोगशाला में बनने वाला पहला तत्व-
यूरिया
16. टेलिफोन के अविष्कारक-ग्राहम बेल
17. भारत द्वारा छोडा गया पहला उपग्रह-
आर्य भट्ट
18. पेन्सिलीन की खोज की-एलेक्जेन्डर फ्लेमिंग
ने
19. चेचक के टीके की खोज की-जेनर ने
20. जीव विज्ञान के जन्मदाता-अरस्तु
21. डाइनामाइट के अविष्कारक-अल्फ्रेड नोबल
22. चन्द्रमा पर उतरने वाला पहला आदमी-नील
आर्म स्ट्रांग

Rajasthan GK Questions and answer
23. अंतरिक्ष में जाने वाले पहले आदमी-
यूरी गगारिन
24. सबसे बडी हड्डी-फीमर जांघ की
25. सबसे छोटी-स्टेपिज कान की
26. संसार का सबसे बडा पुष्प-रेफ्लेसीया
27. किस विटामिन में कोबाल्ट होता है- B 12
28. एनिमिया किस विटामिन से ठीक
हो जाता है- B 12
29. रतौधी रोग किस विटामिन के कमी से
होता है-विटामिन A
30. विटामिन B की कमी से कौन सा रोग
होता है-बेरी बेरी
31. टायफायड से शरीर का कौन सा अंग
प्रभावित होता है-आंत
32. रेबिज के टीके की खोज किसने की-लुई
पाश्चर ने
33. हैजा व टीबी के जीवाणुओं की खोज की-
राबर्ट कोच( 1982)
34. रक्त में पाया जाता है -लौह तत्व
35. एक्स किरणे हैं-विधुत चुम्बकीय किरणें
36. पानी में हवा का बुलबला होता है-अवतल
लेंस
37. विषुवत रेखा पर किसी वस्तु का भार होगा-
न्यूनतम
38. सूर्योदय से पहले सुर्य दिखने का कारण-
प्रकाश का अपवर्तन
39. इन्द्रधनुष बनने का कारण-अपवर्तन
40. ताप बढने पर ध्वनि की चाल पर
क्या प्रभाव पडता है-बढ़ जाती है
41. यदि हम चन्द्रमा पर से आकाश देखे
तो कैसा दिखाई देगा-काला
42. यूरिया को शरीर से अलग करते हैं-गुर्दे
43. मानव त्वचा का रंग बनता है –मेनालिन के
कारण
44. कच्चे फलों को पकाने में काम आता है-
एसिटिलीन
45. चिट्टी,मधुमखी बिच्छू इत्यादी के काटने से
जलन व खुजली क्यों होती है-फार्मिक
एसिड के कारण
46. शरीर के लिए विटामिन डी का निर्माड
करती है-हमारी त्वचा
47. सूर्य की रोशनी में कौन सा विटामिन
पाया जाता है- D,K
48. कृत्रिम वर्षा होती है-सिल्वर आयोडायड के
कारण
49. साल्क टीका किस रोग में लगाया जाता है-
पोलियो
50. जल की बूद किस कारण गोलाकार होती है-
घर्षण के कारण
51. कौन सी धातु द्रव रूप में पायी जाती है-
पारा
52. पीलिया से शरीर का कौन सा अंग प्रभावित
होता है-यकृत
53. विक्रम सराभाई अंतरिक्ष केन्द्र कहाँ है-
तिरूअन्तपूरम
54. शोर किसमें नापा जाता है-डेशीबल
55. सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर आता है-लगभग
आठ मिनट मे
56. मानव हृदय में कितने वाल्व होते हैं-चार
57. वायुमडलीय दाब नापते हैं-बैरो मी से
58. पियुष ग्रन्थि कहाँ होती है-मस्तिष्क के
आधार में
59. नाभिकीय रिएक्टर मे मन्दक होता है-
भारी जल
60. हसाने वाली गैस-नाइट्रस आक्साईड-
खोजकर्ता प्रीस्टाले

Rajasthan GK Questions and answer
61. गाडीयों में ड्राइवर के पास होता है-उत्तल
लेन्स
62. रेफ्रिजरेटर के अविष्कारक-जे.पार्किंस
63. निकट दृष्टि दोस में प्रयुक्त होता है-
अवतल लेंस दूर में उत्तल
64. हमें थकान लगती है-लैक्टिक अम्ल के कारन
65. आतिसबाजी में लाल रंग होता है-स्ट्रांसियम
के कारण
66. सेव मे होता है –मैलिक एसिड
67. अंगूर मे-टार्टरिक एसिड
68. सोडा वाटर में-कार्बोनिक एसिड
69. आतिसबाजी में हरा रंग होता है-बेरियम के
कारण
70. वशा मे घुलनशील विटामिन- A,D,E,K
71. जल मे घुलनशील विटामिन- B,C
72. पेट्रोल मे होता है-हाइड्रोजन एवं कार्बन
73. पत्तियाँ हरी क्यों होती हैं-क्लोरोफिल के
कारण























सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

MIX GK in Hindi Questions Answers


1. 'नीला ग्रह' किसे कहा जाता है? – पृथ्वी

2. विश्व में सबसे बड़ा बाँध कौन–सा है? – ग्राण्ड कूली बाँध

3. चीनी यात्री 'फाह्यान' किसके शासनकाल में भारत आया था? – चन्द्रगुप्त द्वितीय

4. सिखों के नौवें गुरु तेगबहादुर की हत्या किसने करवा दी थी? – औरंगजेब

5. सविनय अवज्ञा आन्दोलन किस समझौते के बाद बन्द हुआ था? – गाँधी–इरविन सम्मेलन

6. लन्दन ओलम्पिक 2012 में भारत ने कुल कितने पदक जीते थे? – 6

7. महात्मा गाँधी द्वारा 'भारत छोड़ो आन्दोलन' कब किया गया था? – 1942 ई. में

8. भारत के संविधान का भाग IV किसके बारे में बताता है? – राज्य के नीति निदेशक सिद्धान्त

9. किसको डॉ. अम्बेडकर ने 'संविधान का हृदय और आत्मा' कहा? – सांविधानिक उपचार का अधिकार

10. किस निकाय की अध्यक्षता गैर–सदस्य करता है? – राज्यसभा

11. भारत के संविधान के अनुसार, जो सांविधानिक अधिकार है किन्तु मूलभूत अधिकार नहीं है?– सम्पत्ति का
अधिकार

12. दक्षिण अफ्रीका से लौटने पर गाँधीजी ने प्रथम सत्याग्रह कहां पर चलाया? – चम्पारण

13. भारत के किस राज्य में महिला साक्षरता का प्रतिशत सर्वोच्च है? – केरल

14. 'चौथा खम्भा' किसका द्योतक है? – समाचार पत्र

15. कौन 1829 ई. में सती प्रथा के उन्मूलन में कारण कारक था? – लॉर्ड बैण्टिंक

16. अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार में 'डम्पिंग' का क्या अर्थ है?– वास्तविक उत्पादन लागत से कम दाम पर माल का
निर्यात

17. मुगल शासन में मनसबदारी प्रणाली का प्रवर्तन किसके द्वारा किया गया? – अकबर

18. किस चोल राजा ने श्रीलंका पर कब्जा किया था? – राजेन्द्र प्रथम

19. भारत में वित्त आयोग का प्रधान कार्य क्या है? – केन्द्र और राज्यों के बीच राजस्व वितरण

20. तंजाऊर के वृहद् मन्दिर का निर्माण किसने किया था? – राजाराज चोल
,
MIX GK in Hindi Questions Answers
1. बंगाल के प्रथम ब्रिटिश गवर्नर जनरल-
वारेन हेस्टिंग्स
2. स्वतंत्र भारत के प्रथम गवर्नर जनरल-
लार्ड माउंट बेटन
3. स्वतंत्र भारत के प्रथम कमांडर इन चीफ-
रॉय बुचर
4. प्रथम प्रधानमंत्री- जवाहरलाल नेहरू
5. प्रथम राष्ट्रपति- डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद
6. फील्ड मार्शल- S.H.F.J. मानेकशा
7. भारत के प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल-
सी. राजगोपालाचारी
8. प्रथम भारतीय आई.सी.एस. अधिकारी- सत्येन्द्र नाथ टैगोर
9. वायसराय एक्जिक्यूटिव कौंसिल के प्रथम भारतीय सदस्य- एस. पी. सिन्हा
10. इंगलिश चैनल को तैर कर पार करने वाले प्रथम भारतीय- मिहिर सेन

पिगमी डिपॉजिट स्कीम’ किस बैंक की प्रचलित योजना है?
सिंडिकेट बैंक

• भारत का पहला व्यावसायिक बैंक जिसका स्वामित्व व प्रबंधन पूर्णतः भारतीयों के पास था?
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

• भारत का सबसे अधिक शाखाओं वाला बैंक__?
भारतीय स्टेट बैंक

• पहला भारतीय बैंक, जिसका प्रारंभ पूर्णतया भारतीय पूंजी से हुआ था?
पंजाब नेशनल बैंक

• भारत में कार्यरत निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक?
आईसीआईसीआई बैंक

• जिस ऋण उत्पाद के लिए बैंकों द्वार टीजर ऋण दिए जाते हैं, वह है?
आवास ऋण

• बैंकिंग शब्दावली आई एम पी एस (IMPS) का पूर्ण विस्तार है?
इंटरबैंक मोबाइल पेमेंट सर्विस

• भारतीय स्टेट बैंक का पुराना नाम है?
इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया

• भारतीय रुपए को नई पहचान प्राप्त हुई?
15 जुलाई, 2010 में

• भारतीय रिजर्व बैंक जिस बैंक के माध्यम से भारत के विदेश व्यापार का वित्त पोषण करने के लिए मदद करता है?

MIX GK in Hindi Questions Answers
एक्जिम बैंक
01. अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार पाने वाले प्रथम भारतीय
उत्तर – अमर्त्य सेन
02. भारत के प्रथम गृहमंत्री कौन थे?
उत्तर – सरदार वल्लभ भाई पटेल
03. भौतिक विज्ञान में नोबेल पुरस्कार पाने वाले प्रथम भारतीय कौन थे?
उत्तर – सी वी रमन
04. चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार पाने वाले प्रथम भारतीय कौन थे?
उत्तर – डॉ हरगोविन्द खुराना
05. भारतीय संविधान में संशोधन की प्रक्रिया किस देश से ली गई है।
उत्तर – दक्षिण अफ्रीका
06. भारतीय संविधान में आपातकाल के प्रवत्र्तन के दौरान राष्ट्रपति को मौलिक अधिकार संबंधी शक्तियां किस देश से ली गई हैं।
उत्तर – जर्मनी
07. पाकिस्तान के लिए पृथक संविधान सभा की स्थापना की घोषण कब की गई।
उत्तर – 26 जुलाई 1947
08. मनुष्य में गुणसूत्रों की संख्या कितनी होती है।
उत्तर – 46
09. राज्यपाल पद ग्रहण करने से पूर्व किसके समक्ष शपथ लेता है।
उत्तर – उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अथवा वरष्ठितम न्यायाधीश
10. उत्तराखंड की स्थापना कब हुई।
उत्तर – 2000 ई.
01. इंगलिश चैनल को तैर कर पार करने वाली प्रथम भारतीय महिला कौन थी?
उत्तर – मिस आरती साहा
2. माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले प्रथम व्यक्ति कौन थे?
उत्तर – तेनजिंग नोरगे
03. बिना ऑक्सीजन के माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले प्रथम पुरुष कौन थे?
उत्तर – फू दोरजी
04. माउंट एवरेस्ट पर दो बार चढ़ने वाले पुरुष कौन थे?
उत्तर – न्वाँग गोम्बु
06. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रथम अध्यक्ष कौन थे?
उत्तर – व्योमेश चन्द्र बनर्जी
07. प्रथम भारतीय टेस्ट ट्यूब बेबी कौन थी?
उत्तर – दुर्गा (कनुप्रिया अग्रवाल)
08. प्रथम भारतीय टेस्ट ट्यूब बेबी के जन्मदाता वैज्ञानिक कौन थे?
उत्तर – डॉ सुभाष मुखोपाध्याय
09. स्वतंत्र भारत के प्रथम कमांडर इन चीफ कौन थे?
उत्तर – जनरल सर रॉय बुचर
10. स्वतंत्र भारत के प्रथम कमांडर इन चीफ कौन थे?
उत्तर – जनरल के. एम. करिअप्पा , 1949





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

Indian Geography GKGE

भारत का भूगोल

Indian Geography GK



देश में वर्षा का वितरण
अधिक वर्षा वाले क्षेत्र- यहाँ वार्षिक वर्षा की मात्रा200 सेमी. से अधिक होता है। क्षेत्र- असम,अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, सिक्किम, कोंकण,मालाबार तट, दक्षिण कनारा, मणिपुर एवंमेघालय।
साधारण वर्षा वाले क्षेत्र- इस क्षेत्र में वार्षिक वर्षा कीमात्रा 100 से 200 सेमी. तक होती है। क्षेत्र-पश्चिमी घाट का पूर्वोत्तर ढाल, पं. बँगाल कादक्षिणी- पश्चिमी क्षेत्र, उड़ीसा, बिहार, दक्षिणी-पूर्वीउत्तर प्रदेश इत्यादि।
न्यून वर्षा वाले क्षेत्र- यहाँ 50 से 100 सेमी. वार्षिकवर्षा होती है। क्षेत्र- मध्य प्रदेश, दक्षिण का पठारीभाग, गुजरात, कर्नाटक, पूर्वी राजस्थान, दक्षिणीपँजाब, हरियाणा तथा दक्षिणी उत्तर प्रदेश।
अपर्याप्त वर्षा वाले क्षेत्र- यहाँ वर्षा 50 सेमी. से भीकम होती है। क्षेत्र- कच्छ, पश्चिमी राजस्थान,लद्दाख आदि।
भूगर्भिक इतिहास
भारत की भूगर्भीय संरचना को कल्पों के आधार परविभाजित किया गया है। प्रीकैम्ब्रियन कल्प केदौरान बनी कुडप्पा और विंध्य प्रणालियां पूर्वी वदक्षिणी राज्यों में फैली हुई हैं। इस कल्प के एकछोटे काल के दौरान पश्चिमी और मध्य भारत कीभी भूगर्भिक संरचना तय हुई। पेलियोजोइक कल्पके कैम्ब्रियन, ऑर्डोविसियन, सिलुरियन औरडेवोनियन शकों के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र मेंकश्मीर और हिमाचल प्रदेश का निर्माण हुआ।मेसोजोइक दक्कन ट्रैप की संरचनाओं को उत्तरीदक्कन के अधिकांश हिस्से में देखा जा सकता है।ऐसा माना जाता है कि इस क्षेत्र का निर्माणज्वालामुखीय विस्फोटों की वजह से हुआ।कार्बोनिफेरस प्रणाली, पर्मियन प्रणाली औरट्रियाजिक प्रणाली को पश्चिमी हिमालय में देखा जासकता है। जुरासिक शक के दौरान हुए निर्माण कोपश्चिमी हिमालय और राजस्थान में देखा जासकता है।
टर्शियरी युग के दौरान मणिपुर, नागालैंड,अरुणाचल प्रदेश और हिमालियन पट्टिका में काफीनई संरचनाएं बनी। क्रेटेशियस प्रणाली को हममध्य भारत की विंध्य पर्वत श्रृंखला व गंगा दोआबमें देख सकते हैं। गोंडवाना प्रणाली को हम नर्मदानदी के विंध्य व सतपुरा क्षेत्रों में देख सकते हैं।इयोसीन प्रणाली को हम पश्चिमी हिमालय औरअसम में देख सकते हैं। ओलिगोसीन संरचनाओं कोहम कच्छ और असम में देख सकते हैं। इस कल्पके दौरान प्लीस्टोसीन प्रणाली का निर्माणज्वालमुखियों के द्वारा हुआ। हिमालय पर्वतश्रृंखला का निर्माण इंडो-ऑस्ट्रेलियन औरयूरेशियाई प्लेटों के प्रसार व संकुचन से हुआ है। इनप्लेटों में लगातार प्रसार की वजह से हिमालय कीऊँचाई प्रतिवर्ष 1 सेमी. बढ़ रही है।
भारतीय प्लेट: भारत पूरी तरह से भारतीय प्लेटपर स्थित है। यह एक प्रमुख टेक्टोनिक प्लेट हैजिसका निर्माण प्राचीन महाद्वीप गोंडवानालैंड केटूटने से हुआ है। लगभग 9 करोड़ वर्ष पूर्व उत्तरक्रेटेशियस शक के दौरान भारतीय प्लेट ने उत्तरकी ओर लगभग 15 सेमी प्रति वर्ष की दर से गतिकरना आरंभ कर दिया। सेनोजोइक कल्प केइयोसीन शक के दौरान लगभग 5 से 5.5 करोड़ वर्षपूर्व यह प्लेट एशिया से टकराई। 2007 में जर्मनभूगर्भशास्त्रियों ने बताया कि भारतीय प्लेट केइतने तेजी से गति करने का सबसे प्रमुख कारणइसका अन्य प्लेटों की अपेक्षा काफी पतला होनाथा। हाल के वर्र्षों में भारतीय प्लेट की गतिलगभग 5 सेमी. प्रतिवर्ष है। इसकी तुलना मेंयूरेशियाई प्लेट की गति मात्र 2 सेमी प्रतिवर्ष ही है।इसी वजह से भारत को च्फास्टेस्ट कांटीनेंटज् कीसंज्ञा दी गई है।

Indian Geography GK
जल राशि
भारत में लगभग 14,500 किमी. आंतरिकनौपरिवहन योग्य जलमार्ग हैं। देश में कुल 12नदियां ऐसी हैं जिन्हें बड़ी नदियों की श्रेणी में रखाजा सकता है। इन नदियों का कुल अपवाह क्षेत्रफल2,528,000 वर्ग किमी. है। भारत की सभी प्रमुखनदियां निम्नलिखित तीन क्षेत्रों से निकलती हैं-
1. हिमालय या काराकोरम श्रृंखला
2. मध्य भारत की विंध्य और सतपुरा श्रृंखला
3. पश्चिमी भारत में साह्यïद्री अथवा पश्चिमी घाट
हिमालय से निकलने वाली नदियों को यहां केग्लेशियरों से जल प्राप्त होता है। इनकी खास बातयह है कि पूरे वर्ष इन नदियों में जल रहता है।अन्य दो नदी प्रणालियां पूरी तरह से मानसून परही निर्भर हैं और गर्मी के दौरान छोटी नदियां मात्रबन कर रह जाती हैं। हिमालय से पाकिस्तान बहकर जाने वाली नदियों में सिंधु, ब्यास, चिनाब,राबी, सतलुज और झेलम शामिल हैं।
गंगा-ब्रह्म्ïापुत्र प्रणाली का जल अपवाह क्षेत्रसबसे ज्यादा 1,100,000 वर्ग किमी. है। गंगा काउद्गम स्थल उत्तरांचल के गंगोत्री ग्लेशियर से है।यह दक्षिण-पूर्व दिशा में बहते हुए बंगाल की खाड़ीमें जाकर गिरती है। ब्रह्म्ïापुत्र नदी का उद्गमस्थल तिब्बत में है और अरुणाचल प्रदेश में यहभारत में प्रवेश करती है। यह पश्चिम की ओर बढ़तेहुए बांग्लादेश में गंगा से मिल जाती है।
पश्चिमी घाट दक्कन की सभी नदियों का स्रोत है।इसमें महानदी, गोदावरी, कृष्णा और कावेरी नदियांशामिल हैं। ये सभी नदियां बंगाल की खाड़ी मेंगिरती हैं। भारत की कुल 20 फीसदी जल अपवाहइन नदियों के द्वारा ही होता है।
भारत की मुख्य खाडिय़ों में कांबे की खाड़ी, कच्छकी खाड़ी और मन्नार की खाड़ी शामिल हैं। जलसंधियों में पाल्क जलसंधि है जो भारत और श्रीलंकाको अलग करती है, टेन डिग्री चैनल अंडमान कोनिकोबार द्वीपसमूह से अलग करता है और ऐटडिग्री चैनल लक्षद्वीप और अमिनदीवी द्वीपसमूहको मिनीकॉय द्वीप से अलग करता है। महत्वपूर्णअंतरीपों में भारत की मुख्यभूमि के धुर दक्षिणभाग में स्थित कन्याकुमारी, इंदिरा प्वाइंट (भारतका धुर दक्षिण हिस्सा), रामा ब्रिज और प्वाइंटकालीमेरे शामिल हैं। अरब सागर भारत के पश्चिमीकिनारे पर पड़ता है, बंगाल की खाड़ी और हिंदमहासागर भारत के क्रमश: पूर्वी और दक्षिणी भागमें स्थित हैं। छोटे सागरों में लक्षद्वीप सागर औरनिकोबार सागर शामिल हैं। भारत में चार प्रवालभित्ति क्षेत्र हैं। ये चार क्षेत्र अंडमान और निकोबारद्वीपसमूह, मन्नार की खाड़ी, लक्षद्वीप और कच्छकी खाड़ी में स्थित हैं। महत्वपूर्ण झीलों में चिल्कझील (उड़ीसा में स्थित भारत की सबसे बड़ीसाल्टवाटर झील), आंध्र प्रदेश की कोल्लेरू झील,मणिपुर की लोकतक झील, कश्मीर की डल झील,राजस्थान की सांभर झील और केरल कीसस्थामकोट्टा झील शामिल हैं।
Indian Geography GK

प्राकृतिक संसाधन
भारत के कुल अनुमानित पुनर्नवीनीकृत जलसंसाधन 1,907.8 किमी.घन प्रति वर्ष हैं। भारत मेंप्रतिवर्ष 350 अरब घन मी. प्रयोग योग्य भूमि जलकी उपलब्धता है। कुल 35 फीसदी भूमिजलसंसाधनों का ही उपयोग किया जा रहा है। देश कीप्रमुख नदियों व जल मार्र्गों से प्रतिवर्ष 4.4 करोड़टन माल ढोया जाता है। भारत की 56 फीसदी भूमिखेती योग्य है और कृषि के लिए प्रयोग की जाती है।
एक मोटे अनुमान के अनुसार भारत में 5.4 अरबबैरल कच्चे तेल के भंडार हैं। इनमें से अधिकांशबांबे हाई, अपर असम, कांबे, कृष्णा-गोदावरी औरकावेरी बेसिन में स्थित हैं। आंध्र प्रदेश, गुजरातऔर उड़ीसा में लगभग 17 खरब घन फीट प्राकृतिकगैस के भंडार हैं। आंध्र प्रदेश में यूरेनियम के भंडारहैं।
भारत दुनिया का सबसे बड़ा माइका उत्पादक देशहै। बैराइट व क्रोमाइट उत्पादन के मामले में भारतका दूसरा स्थान है। कोयले के उत्पादन के मामलेमें भारत का दुनिया में तीसरा स्थान है, वहीं लौहअयस्क के उत्पादन के मामले में भारत का चौथास्थान है। यह बॉक्साइट और कच्चे स्टील केउत्पादन के मामले में छठवें स्थान पर है औरमैंगनीज अयस्क उत्पादन के मामले में सातवेंस्थान पर है। अल्म्युनियम उत्पादन के मामले मेंइसका आठवां स्थान है। भारत में टाइटेनियम, हीरेऔर लाइमस्टोन के भी भंडार प्रचुर मात्रा में हैं।भारत में दुनिया के 24 फीसदी थोरियम भंडारमौजूद हैं।


नमभूमि
नमभूमि वह क्षेत्र है जो शुष्क और जलीय इलाके सेलेकर कटिबंधीय मानसूनी इलाके में फैली होती हैऔर यह वह क्षेत्र होता है जहां उथले पानी की सतहसे भूमि ढकी रहती है। ये क्षेत्र बाढ़ नियंत्रण मेंप्रभावी हैं और तलछट कम करते हैं। भारत में येकश्मीर से लेकर प्रायद्वीपीय भारत तक फैले हैं।अधिकांश नमभूमि प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर परनदियों के संजाल से जुड़ी हुई हैं। भारत सरकार नेदेश में संरक्षण के लिए कुल 71 नमभूमियों काचुनाव किया है। ये राष्ट्रीय पार्र्कों व विहारों केहिस्से हैं। कच्छ वन समूचे भारतीय समुद्री तट परपरिरक्षित मुहानों, ज्वारीय खाडिय़ों, पश्च जल क्षारदलदलों और दलदली मैदानों में पाई जाती हैं। देशमें कच्छ क्षेत्रों का कुल क्षेत्रफल 4461 वर्ग किमी. हैजो विश्व के कुल का 7 फीसदी है। भारत में मुख्यरूप से कच्छ वन अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह,सुंदरबन डेल्टा, कच्छ की खाड़ी और महानदी,गोदावरी और कृष्णा नदियों के डेल्टा पर स्थित हैं।महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल के कुछ क्षेत्रों में भीकच्छ वन स्थित हैं।
सुंदरबन डेल्टा दुनिया का सबसे बड़ा कच्छ वन है।यह गंगा के मुहाने पर स्थित है और पं. बंगाल औरबांग्लादेश में फैला हुआ है। यहां के रॉयल बंगालटाइगर प्रसिद्ध हैं। इसके अतिरिक्त यहां विशिष्टप्राणि जात पाये जाते हैं।


भारत की प्रमुख जनजातियां
भारत में जनजातीय समुदाय के लोगों की काफीबड़ी संख्या है और देश में 50 से भी अधिक प्रमुखजनजातीय समुदाय हैं। देश में रहने वालेजनजातीय समुदाय के लोग नेग्रीटो, ऑस्ट्रेलॉयडऔर मंगोलॉयड प्रजातियों से सम्बद्ध हैं। देश कीप्रमुख जनजातियां निम्नलिखित हैं-
आंध्र प्रदेश: चेन्चू, कोचा, गुड़ावा, जटापा, कोंडाडोरस, कोंडा कपूर, कोंडा रेड्डी, खोंड, सुगेलिस,लम्बाडिस, येलडिस, येरुकुलास, भील, गोंड,कोलम, प्रधान, बाल्मिक।
असम व नगालैंड: बोडो, डिमसा गारो, खासी, कुकी,मिजो, मिकिर, नगा, अबोर, डाफला, मिशमिस,अपतनिस, सिंधो, अंगामी।
झारखण्ड: संथाल, असुर, बैगा, बन्जारा, बिरहोर,गोंड, हो, खरिया, खोंड, मुंडा, कोरवा, भूमिज, मलपहाडिय़ा, सोरिया पहाडिय़ा, बिझिया, चेरू लोहरा,उरांव, खरवार, कोल, भील।
महाराष्ट्र: भील, गोंड, अगरिया, असुरा, भारिया,कोया, वर्ली, कोली, डुका बैगा, गडावास, कामर,खडिया, खोंडा, कोल, कोलम, कोर्कू, कोरबा, मुंडा,उरांव, प्रधान, बघरी।
पश्चिम बंगाल: होस, कोरा, मुंडा, उरांव, भूमिज,संथाल, गेरो, लेप्चा, असुर, बैगा, बंजारा, भील,गोंड, बिरहोर, खोंड, कोरबा, लोहरा।
हिमाचल प्रदेश: गद्दी, गुर्जर, लाहौल, लांबा,पंगवाला, किन्नौरी, बकरायल।
मणिपुर: कुकी, अंगामी, मिजो, पुरुम, सीमा।
मेघालय: खासी, जयन्तिया, गारो।
त्रिपुरा: लुशाई, माग, हलम, खशिया, भूटिया, मुंडा,संथाल, भील, जमनिया, रियांग, उचाई।
कश्मीर: गुर्जर।
गुजरात: कथोड़ी, सिद्दीस, कोलघा, कोटवलिया,पाधर, टोडिय़ा, बदाली, पटेलिया।
उत्तर प्रदेश: बुक्सा, थारू, माहगीर, शोर्का, खरवार,थारू, राजी, जॉनसारी।
उत्तरांचल: भोटिया, जौनसारी, राजी।
केरल: कडार, इरुला, मुथुवन, कनिक्कर,मलनकुरावन, मलरारायन, मलावेतन, मलायन,मन्नान, उल्लातन, यूराली, विशावन, अर्नादन,कहुर्नाकन, कोरागा, कोटा, कुरियियान,कुरुमान,पनियां, पुलायन, मल्लार, कुरुम्बा।
छत्तीसगढ़: कोरकू, भील, बैगा, गोंड, अगरिया,भारिया, कोरबा, कोल, उरांव, प्रधान, नगेशिया,हल्वा, भतरा, माडिया, सहरिया, कमार, कंवर।
तमिलनाडु: टोडा, कडार, इकला, कोटा, अडयान,अरनदान, कुट्टनायक, कोराग, कुरिचियान, मासेर,कुरुम्बा, कुरुमान, मुथुवान, पनियां, थुलया,मलयाली, इरावल्लन, कनिक्कर,मन्नान, उरासिल,विशावन, ईरुला।
कर्नाटक: गौडालू, हक्की, पिक्की, इरुगा, जेनु,कुरुव, मलाईकुड, भील, गोंड, टोडा, वर्ली, चेन्चू,कोया, अनार्दन, येरवा, होलेया, कोरमा।
उड़ीसा: बैगा, बंजारा, बड़होर, चेंचू, गड़ाबा, गोंड,होस, जटायु, जुआंग, खरिया, कोल, खोंड, कोया,उरांव, संथाल, सओरा, मुन्डुप्पतू।
पंजाब: गद्दी, स्वागंला, भोट।
राजस्थान:मीणा, भील, गरसिया, सहरिया, सांसी,दमोर, मेव, रावत, मेरात, कोली।
अंडमान-निकोबार द्वीप समूह: औंगी आरबा,उत्तरी सेन्टीनली, अंडमानी, निकोबारी, शोपन।
अरुणाचल प्रदेश: अबोर, अक्का, अपटामिस,बर्मास, डफला, गालोंग, गोम्बा, काम्पती, खोभामिसमी, सिगंपो, सिरडुकपेन।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

Saturday, August 27, 2016

gk in histroy

►- गौरवपूर्ण / रक्तहीन क्रांति (1688) :-
1688 में स्टुअर्ट वंश के राजा जेम्स द्वितीय की कैथोलिक निरंकुशता तथा अडिय़लपन से तंग आकर जनता ने विद्रोह कर दिया और उसकी लड़की मेरी और उसके पति हालैण्ड के राजा विलियम को इंग्लैण्ड का सिंहासन सौंप दिया। यह परिवर्तन बिना रक्तपात के हुआ, इस कारण इसे रक्तहीन क्रांति कहा जाता है।

राजनीतिक कारण:
(1) जेम्स द्वितीय की निरंकुशता : जेम्स द्वितीय निरंकुश एवं स्वेच्छाचारी शासक था। उसने अपनी सेना में वृद्धि की, जिससे कि वह जनता को आतंकित कर सके। निरंकुश शासन और शासन का कटु अनुभव जनता को पहले ही था। फलतः जनता द्वारा जेम्स का विरोध होना स्वाभाविक था।

(2) संसद द्वारा अधिकारों के लिये संघर्ष : संसद अपने विशष्ट अधिकारों का उपयोग चाहती थी। वह राजा के अधिकारों को सीमित और नियंत्रित करना चाहती थी। फलतः राजा और संसद के मध्य संघर्ष प्रारंभ हो गया। इस संघर्ष का अंत शानदार क्रांति के रूप में हुआ और अंत में संसद ने राजा पर विजय प्राप्त की।

(3) खूनी न्यायालय - चार्ल्स द्वितीय के अवैध पुत्र मन्मथ ने सिंहासन प्राप्ति के लिए जेम्स के विरूद्ध विद्रोह कर दिया और स्वयं को चार्ल्स द्वितीय का उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। जेम्स द्वितीय ने मम्मथ को युद्ध में परास्त कर बंदी बना लिया और उसे तथा उसके साथियों को न्यायालय द्वारा मृत्यु दण्ड दिया गया। इस न्यायालय को खूनी न्यायालय कहा गया। स्काटलैण्ड में भी अर्ल ऑफ अरगिल ने व्रिदोह किया। इस विद्रोह का भी कठोरता से दमन किया गया। तीन सौ व्यक्तियों को मृत्यु दण्ड दिया गया और 800 व्यक्तियों को दास बनाकर वेस्टइंडीज द्वीपों में भेजकर बेच दिया गया। स्त्रियों और बच्चों को भी क्षमा नहीं किया गया। इस क्रूरता और निर्दयता से जनता उससे रुष्ट हो गयी।

(4) जेम्स द्वितीय की निष्फल विदेश-नीति : जेम्स द्वितीय फ्रांस के केथोलिक राजा लुई चतुर्दश से आर्थिक और सैनिक सहायता प्राप्त कर इंग्लैण्ड में अपना निरंकुश स्वेच्छाकारी शासन स्थापित करना चाहता था। वह लुई चौदहवें के धन और सैनिक सहायता के आधार पर राज करना चाहता था। लुई केथोलिक था और फ्रांस मेंं प्रोटेस्टेंटों पर अत्याचार कर रहा था। इससे ये प्रोटेस्टेंट इंग्लैण्ड में आकर शरण ले रहे थे। ऐसी दश में इंग्लैण्डवासी और संसद सदस्य नहीं चाहते थे कि जेम्स लुई से मित्रता रखे और उससे सहायता प्राप्त करे। अतः वे जेम्स के विरोधी हो गये।

धार्मिक कारण
(1) केथोलिक धर्म के लिए प्रसार - जेम्स केथोलिक मत का अनुयायी था, जबकि इंग्लैण्ड की अधिकांश जनता एंग्लिकन मत की अनुयायी थी। जेम्स केथोलिकों को अधिकाधिक सुविधाएँ प्रदान करना चाहता था। जेम्स ने पोप को इंग्लैण्ड में आमंत्रित किया और उसका अत्याधिक सम्मान किया। उसने लंदन में केथोलिक गिरजाघर भी स्थापित किया। इससे इंग्लैण्ड के प्युरीटन और प्रोटेस्टेंट उसके विरोधी हो गये।

(2) टेस्ट अधिनियम को स्थगित करना - टेस्ट अधिनियम के अंतर्गत केवल एंग्लिकन चर्च के अनुयायी ही सरकारी पद पर रह सकते थे। जेम्स ने इस अधिनियम को स्थगित कर अनेक केथोलिकों को राजकीय पदों पर प्रतिष्ठित किया। मंत्री, न्यायाधीश, नगर-निगम के सदस्य तथा सेना में ऊँचे पदों पर केथोलिक नियुक्त किए गए। अतः सांसद इससे रुष्ट हो गये।

(3) विश्वविद्यालयों में हस्तक्षेप : केथोलिक मतावलंबी होने से जेम्स ने विश्वविद्यालयों में भी ऊँचे पदों पर केथोलिक नियुक्त कर दिये। क्राइस्ट चर्च कॉलेज में अधिष्ठाता के पद पर और केम्ब्रिज विश्वविद्यालय के कुलपति पद पर एक केथोलिक को नियुक्त किया। मेकडॉनल्ड विद्यालय के भीशक्षा अधिकारियों को पृथक कर दिया गया, क्योंकि उन्होंने एक केथोलिक को सभापित बनाने से इंकार कर दिया था। इससे प्रोटेस्टेंट सम्प्रदाय के लोग जेम्स विरोधी हो गये।

(4) धार्मिक अनुग्रहों की घोषणाएँ : जेम्स द्वितीय ने इंग्लैण्ड को केथोलिक देश बनाने के लिए 1687 ई. और 1688 ई. में दो बार धार्मिक अनुग्रह की घोषणा की। प्रथम घोषणा से केथालिकों तथा अन्य मताबलम्बियों पर लगे प्रतिबंधों और नियंत्रणों को समाप्त कर दिया गया और द्वितीय घोषणा में वर्ग व धर्म का पक्षपात किये बिना सभी लोगों के लिए राजकीय पदों पर नियुक्ति का मार्ग प्रशस्त किया साथ ही कैथलिकों को धार्मिक स्वतंत्रता प्रदान कर दी गई। इससे संसद में भारी असंतोष व्याप्त हो गया एवं सांसद उसके घोर विरोधी हो गये।

(5) सात पादरियों पर अभियोग और उनको बंदी बनाना - जेम्स ने यह आदेश दिया कि प्रत्येक रविवार को उसकी द्वितीय धार्मिक घोषणा पादरियों द्वारा चर्च में प्रार्थना के अवसर पर पढ़ी जाए। इसका यह परिणाम होता कि या तो पादरी अपने धर्म व मत के विरूद्ध इस घोषणा को पढ़ें, अथवा राजा की आज्ञा का उल्लंघन करें। इस पर केंटरबरी के आर्च बिशप सेनक्राफ्ट ने अपने 6 साथियों सहित जेम्स को एक आवेदन पत्र प्रस्तुत किया। जिसमें जेम्स से निवेदन किया था कि वह अपनी आज्ञा को निरस्त कर दे और पुराने नियमों को भंग करने की नीति को त्याग दें। इससे जेम्स ने कुपित होकर इन पादरियों को बंदी बना कर उन पर राजद्रोह का मुकदमा चलाया, पर न्यायाधीशों ने उनको दोष मुक्त कर दिया। इससे जनता और सेना ने पादरियों की मुक्ति पर हर्ष और जेम्स के प्रति विरोध व्यक्त किया।

(6) कोर्ट ऑफ हाई कमीशन की स्थापना : 1686 ई. में जेम्स ने गिरजाघरों पर राजकीय श्रेष्ठता पूर्ण रूप से स्थापित करने के लिए ‘‘कोर्ट ऑफ हाई कमीशन’’ को पुनः स्थापित कर लिया। इसमें केथोलिक धर्म की अवहेलना करने वालों पर मुकदमा चलाकर उनको दण्डित किया जाता था।

(7) नवीन केथोलिक गिरजाघर, 1686 ई. - जेम्स ने केथोलिक धर्म के अधिक प्रचार और प्रसार के लिए लंदन में एक नवीन केथोलिक गिरजाघर स्थापित किया। जेम्स ने धा र्मिक न्यायालयों की स्थापना करके कानून को भंग किया, गिरजाघरों, विद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों पर आक्रमण कर पादरियों और टोरियों को रुष्ट किया। जेम्स के इन अनुचित और अवैध कार्यों से देश में विरोध और क्रांति की भावनाएँ फैल गयीं।


बिल ऑफ राइट्स (1689) :- 1689 में विलियम और मेरी को इंग्लैण्ड के सिंहासनारोहण के समय अधिकारों की घोषणा की रक्षा की शपथ लेनी पड़ी। अधिकारों की यही घोषणा 'बिल ऑफ राइट्स' कही जाती है। इस घोषणा-पत्र द्वारा निरंकुश राजतंत्र का अंत होकर एक संवैधानिक राजतन्त्र का जन्म हुआ।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

MP GK

मध्य प्रदेश राज्य की परीक्षाओं के विशेष महत्वपूर्ण तथ्य
मुख्यमंत्री – श्री शिवराज सिंह चौहान
राज्यपाल – श्री राम नरेश यादव
राज्य की राजधानी – भोपाल
राज्य की भाषा – हिन्दी
गठन – 1 नवंबर, 1956
कुल जिले – 51
राज्य का राजकीय पक्षी – दूधराज
राज्य का राजकीय पशु – बारहसिंहा
राज्य का राजकीय पुष्प – लिली
राज्य का राजकीय फल – आम
राज्य का राजकीय वृक्ष – बरगद
साक्षरता दर – 69.3%
पुरुष साक्षरता दर – 78.7%
महिला साक्षरता दर – 59.2%
लोकसभा सीटों की संख्या – 29
राज्यसभा सदस्यों की संख्या – 11
विधानसभा सीटों की संख्या – 230
राज्य का जनघनत्व – 236 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
कुल जनसंख्या (वर्ष 2011 के अंतिम आंकड़ों के अनुसार) – 7,26,26,809
पुरुष जनसंख्या – 3,76,12,306
महिला जनसंख्या – 3,50,14,503
दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर – 20,30%
सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला – इंदौर
न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला – हरदा
सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला – बालाघाट
न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला – भिंड
सर्वाधिक जनघनत्व वाला जिला – भोपाल
न्यूनतम जनघनत्व वाला ​जिला – डिंडोरी
सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला – जबलपुर
न्यूनतम साक्षरता दर वाला जिला – अलीराजपुर
सर्वाधिक पुरुष साक्षरता दर वाला जिला – जबलपुर/इंदौर
न्यूनतम पुरुष साक्षरता दर वाला जिला – अलीराजपुर
सर्वाधिक महिला साक्षरता दर वाला जिला – भोपाल
न्यूनतम महिला साक्षरता दर वाला जिला – अलीराजपुर
सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या प्रतिशत वाला जिला – भोपाल
न्यूनतम नगरीय जनसंख्या प्रतिशत वाला जिला – डिंडोरी
सर्वाधिक अनुसूचित जाति (SC) प्रतिशतता वाला जिला – उज्जैन
न्यूनतम अनुसूचित जाति प्रतिशतता वाला जिला – झाबुआ
सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति प्रतिशतता वाला जिला – अलीराजपुर
न्यूनतम अनुसूचित जनजाति वाला जिला – भिंड
सर्वाधिक शिशु जनसंख्या वाले दो जिले हैं – इंदौर एवं धार
न्यूनतम शिशु जनसंख्या वाले दो जिले हैं – हरदा एवं अनूपपुर
सर्वाधिक तथा न्यूनतम दशकीय वृद्धि दर वाले दो-दो जिले क्रमश: – इंदौर व झाबुआ और अनुपपुर व बैतूल
सर्वाधिक तथा न्यूनतम अनुसूचित जाति की जनंसख्या क्रमश: – इंदौर और झाबुआ
भारत में जनसंख्या के आधार पर मध्य प्रदेश का स्थान – छठा
साक्षरता दर के मामले में राज्य का देश में स्थान – 28वां
महिला साक्षरता में राज्य का स्थान – 28वां
राज्य में औसत लिंगानुपात – 931 (महिला प्रति हजार पुरुष)
मध्य प्रदेश में शिशु लिंगानुपात – 918
मध्य प्रदेश के उस जिले का नाम जिसका लिंगानुपात राज्य के लिंगानुपात के बराबर है – रीवा जिला (930)
निम्नतम शिशु लिंग अनुपात जिला – मुरैना
उच्चतम शिशु लिंग अनुपात वाला जिला – अलीराजपुर
क्षेत्रफल – 3,08,252 वर्ग किमी.
क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्य प्रदेश का स्थान – दूसरा
क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला – छिन्दवाड़ा
क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला – दतिया
प्रदेश का सबसे बड़ा शहर – इंदौर
सीमावर्ती राज्य – पूर्व में छत्तीसगढ़ पश्चिम में राजस्थान और गुजरात, उत्तर में उत्तर प्रदेश तथा दक्षिण में महाराष्ट्र
प्रदेश की अधिकतम सीमा से जुड़ने वाला राज्य – उत्तर प्रदेश (10 जिलों में)
न्यूनतम सीमा से जुड़ने वाला राज्य – गुजरात
मध्य प्रदेश की दक्षिणी सीमा से जुड़ने वाली नदी – ताप्ती
मध्य प्रदेश की उत्तरी सीमा से जुड़ने वाली नदी – चम्बल
मध्य प्रदेश के मध्य से गुजरने वाली रेखा – कर्क रेखा
मध्य प्रदेश के प्रथम मुख्ममंत्री – श्री रविशंकर शुल्क
राज्य के प्रथम राज्यपाल – पट्टाभि सीतारमैया
प्रथम विश्वविद्यालय – डॉ. हरिसिंह गौर (सागर)
प्रथम बायोस्फीयर रिजर्व – पचमढ़ी
प्रथम जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान – मण्डला
राज्य का प्रथम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा – भोपाल
‘झीलों का शहर’ उपनाम से जाना जाने वाला शहर – भोपाल
प्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन जिसे सतपुड़ा की रानी कहा जाता है – पचमढ़ी
मध्य प्रदेश में सड़कों की कुल लंबाई – 73,311 किमी.
मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन – इटारसी
मध्य प्रदेश में रेल सेवा विभाग का मुख्यालय – भोपाल
मध्य प्रदेश में कुल हवाई अड्डे – 5 (खजुराहो, ग्वालियर, भोपाल, इन्दौर एवं जबलपुर)
1 नवंबर, 2000 को मध्य प्रदेश में अलग होकर बनने वाला राज्य – छत्तीसगढ़
मध्य प्रदेश के प्रमुख लोकगीत – आल्हा, कलगी, तुर्रा, नागपन्थी, गायन, भरथरी इत्यादि
मध्य प्रदेश के प्रमुख लोकनृत्य – गणगौर, काटी, फेफारिया, आड़ा-खाड़ा नाच, डंडा नाच, मटकी नाच, रजवाड़ी, राई नृत्य, खैरा नृत्य, कानड़ा नृत्य इत्यादि
मध्य प्रदेश में सर्वाधिक बोली जाने वाली बोली – बुन्देलखंडी
मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियां – नर्मदा, चम्बल, सोन, ताप्ती व बेतवा
मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी नदी – नर्मदा
भारत की 5वीं सबसे बड़ी नदी – नर्मदा
राज्य की प्रमुख जनजातियां – गोण्ड भील, बैगा, कोरकू, भारिया, कोल, हल्बा, सहारिया, सउर, खैखार, पनिका, केवार इत्यादि
प्रदेश की प्रमुख फसलें – चावल, गेहूं, ज्वार, चना, सोयाबीन, गन्ना व कपास
राज्य की प्रमुख व्यापारिक फसल – सोयाबीन
राज्य के प्रमुख टाइगर रिजर्व – कान्हा, पन्ना, बाधवगढ़ पेंच, सतपुड़ा
मध्य प्रदेश के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान – कान्हा किसली, माधव, बांधवगढ़, पन्ना, सतपुड़ा, वन विहार, सोन, नरसिंह गढ़ इत्यादि
मध्य प्रदेश का पहला राष्ट्रीय उद्यान – कान्हा किसली
राज्य में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज – ग्रेफाइट, अभ्रक, ​शीशा, बॉक्साइट, तांबा, संगमरमर, चूना पत्थर, कोयला, घीया पत्थर, स्लेट इत्यादि
राज्य का उच्च न्यायालय – जबलपुर
मध्य प्रदेश का हीरा, डायस्फोर, पाइरोफिलाइट तथा तांबा, अयस्क के उत्पादन में देश में स्थान – प्रथम
मध्य प्रदेश में वन क्षेत्र का प्रतिशत – 31%
राज्य में सर्वाधिक आरक्षित वन – उज्जैन
राज्य में सबसे कम आरक्षित वन – राजगढ़
राज्य में सबसे अधिक वन वाला जिला – बालाघाट जिला
राज्य में सबसे कम वन वाला जिला – शाजापुर जिला
वनों का राष्ट्रीयकरण (1970) करने वाला प्रथम राज्य – मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश का न्यूज प्रिन्ट कारखाना – नेपानगर
मध्य प्रदेश में राज्य सतर्कता आयोग की स्थापना – 1 मार्च, 1964
राज्य में मानवाधिकार आयोगा का गठन – दिसंबर 1994
प्रदेश में राज्य वित्त आयोग का गठन – दिसंबर 1994
राज्य में जवाहर लाल नेहरू पुलिस अकादमी स्थित है – सागर में
पंचायत चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने वाला पहला राज्य – मध्य प्रदेश
राज्य का प्रथम रत्न परिष्कृत केंद्र – जबलपुर
राज्य का पहला विशेष आर्थिक जोन – इंदौर
राज्य में तेल शोधक कारखाना – बीना (सागर)
राज्य का सबसे बड़ा अभयारण्य – नौरोदेही
राज्य का सबसे छोटा अभयारण्य – राला मण्डल
राज्य का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान – वन बिहार
खनिज उत्पादन में मध्य प्रदेश का स्थान – तृतीय
राज्य में क्रिस्टल आई टी पार्क की स्थापना – इंदौर
राज्य में ऑप्टिकल फाइबर का कारखाना – मण्डीद्वीप
अल्कोहल एंड कार्बन डाई-ऑक्साइड प्लांट – रतलाम
करेंसी प्रिंटिंग प्रेस – देवास
सिक्योरिटी पेपर मिल – होशंगाबाद
रेलवे कोच फैक्ट्री – भोपाल
राज्य में सर्वाधिक उद्योग वाला जिला – पीथमपुरा (धारा जिला)
सबसे कम उद्योग वाला जिला – पन्ना जिला
राज्य में सर्वाधिक पवन चक्की – इंदौर
राज्य के प्रमुख पर्यटक स्थल – कान्हा किसली, महेश्वर, खजुराहो, ग्वालियर का किला, सांची स्तूप, पचमढ़ी, भीमबेटका, माण्डू, बांधवगढ़, इत्यादि
राज्य के प्रमुख धार्मिक स्थल – चित्रकूट, उज्जैन इत्यादि



● प्रथम राज्यपाल – डॉ. पट्टाभि सीतारमैया
● प्रथम महिला राज्यपाल – सुश्री सरला ग्रेवाल
● प्रथम मुख्यमंत्री – पं. रविशंकर शुक्ल
● प्रथम गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री – वीरेंद्र सकलेचा
● प्रथम महिला मुख्यमंत्री – सुश्री उमा भारती
● प्रथम न्यायाधीश – मो. हिदायतुल्ला
● प्रथम महिला न्यायाधीश – श्रीमती सरोजनी सक्सेना
● प्रथम विधानसभा अध्यक्ष – कुंजीलाल दुबे
● प्रथम मुख्य सचिव – एच. एस. कामथ
● प्रथम महिला मुख्य सचिव – निर्मला बुच
● प्रथम विधानसभा उपाध्यक्ष – विष्णु विनायक सरवटे
● प्रथम विपक्ष का नेता – विष्णुनाथ तामस्कर
● प्रथम महिला विपक्ष नेता – जमुनादेवी
● प्रथम राज्य निर्वाचन आयुक्त – एन. बी. लोहानी
● प्रथम राज्य वित्त आयोग – शीतला सहाय
● प्रथम राज्य सूचना आयुक्त – टी. एन. श्रीवास्तव
● प्रथम पुलिस महानिरीक्षक – बी. जी. घाटे
● प्रथम पुलिस महानिदेशक – वी. पी. दुबे
● प्रथम महाधिवक्ता – श्री एम. अधिकारी
● प्रथम लोकायुक्त – पी वी दीक्षित
● प्रथम राज्य योजना मंडल अध्यक्ष – प्रकाशचंद्र सेठी
● प्रथम भारतीय पुलिस सेवा (महिला) मध्य प्रदेश में – कु. आशा गोपालन
● प्रथम लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष – डी. बी. रेड्डी
● प्रथम राष्ट्रीय उद्यान – कान्हा किसली
● प्रथम विश्वविद्यालय – डॉ. हरिसिंह गौर
● प्रथम केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा – सागर विश्वविद्यालय
● प्रथम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा – भोपाल
● प्रथम विशेष आर्थिक क्षेत्र (SEZ) – इंदौर (पीथमपुर)
● प्रथम जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान – मंडला
● प्रथम बायोस्फीयर रिजर्व – पचमढ़ी
● प्रथम टाइगर प्रोजेक्ट (मंडला) – कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान
● प्रथम आकाशवाणी केंद्र – इंदौर
● प्रथम समाचार केंद्र – ग्वालियर अखबार (1840)
● प्रथम खेल विद्यालय – सीहोर
● प्रथम परमाणु बिजलीघर – चुटका गांव (मंडला)
● प्रथम सौर ऊर्जा ग्राम – कस्तूरबाग्राम इंदौर
● प्रथम ग्राम न्यायालय – बैरसिया (भोपाल)
● प्रथम पर्यटन नगर – शिवपुरी
● प्रथम आपदा प्रबंधन संस्थान – भोपाल
● प्रथम रत्न परिष्कृत केंद्र – जबलपुर
● प्रथम हाइवे एक्सप्रेस मार्ग – इंदौर—भोपाल
● प्रदेश का सर्वाधिक गांजा उत्पादक जिला – खंडवा
● प्रदेश का सर्वाधिक अफीम उत्पादक जिला – मंदसौर























सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

GK Question and Answer

भारत के शहरो व राज्य के भौगोलिक उपनाम-
1. ईश्वर का निवास स्थान - प्रयाग
2. पांच नदियों की भूमि -पंजाब
3. सात टापुओं का नगर- मुंबई
4. बुनकरों का शहर- पानीपत
5. अंतरिक्ष का शहर बेंगलुरू
6. डायमंड हार्बर -कोलकाता
7. इलेक्ट्रॉनिक नगर -बेंगलुरू
8. त्योहारों का नगर -मदुरै
9. स्वर्ण मंदिर का शहर -अमृतसर
10. महलों का शहर कोलकाता
11. नवाबों का शहर- लखनऊ
12. इस्पात नगरी -जमशेदपुर
13. पर्वतों की रानी -मसूरी
14. रैलियों का नगर -नई दिल्ली
15. भारत का प्रवेश द्वार मुंबई
16. पूर्व का वेनिस- कोच्चि
17. भारत का पिट्सबर्ग -जमशेदपुर
18. भारत का मैनचेस्टर- अहमदाबाद
19. मसालों का बगीचा -केरल
20. गुलाबी नगर- जयपुर
21. क्वीन ऑफ डेकन- पुणे
22. भारत का हॉलीवुड -मुंबई
23. झीलों का नगर -श्रीनगर
24. फलोद्यानों का स्वर्ग -सिक्किम
25. पहाड़ी की मल्लिका -नेतरहाट
26. भारत का डेट्राइट -पीथमपुर
27. पूर्व का पेरिस- जयपुर
28. सॉल्ट सिटी- गुजरात
29. सोया प्रदेश -मध्य प्रदेश
30. मलय का देश- कर्नाटक
31. दक्षिण भारत की गंगा- कावेरी
32. काली नदी- शारदा
33. ब्लू माउंटेन - नीलगिरी पहाड़ियां
34. एशिया के अंडों की टोकरी - आंध्र प्रदेश
35. राजस्थान का हृदय - अजमेर
36. सुरमा नगरी - बरेली
37. खुशबुओं का शहर -कन्नौज
38. काशी की बहन -गाजीपुर
39. लीची नगर देहरादून
40. राजस्थान का शिमला -माउंट आबू
41. कर्नाटक का रत्न -मैसूर
42. अरब सागर की रानी -कोच्चि
43. भारत का स्विट्जरलैंड -कश्मीर
44. पूर्व का स्कॉटलैंड- मेघालय
45. उत्तर भारत का मैनचेस्टर - कानपुर
46. मंदिरों और घाटों का नगर - वाराणसी
47. धान का डलिया- छत्तीसगढ़
48. भारत का पेरिस -जयपुर
49. मेघों का घर -मेघालय
50. बगीचों का शहर- कपूरथला
51. पृथ्वी का स्वर्ग -श्रीनगर
52. पहाड़ों की नगरी- डुंगरपुर
53. भारत का उद्यान -बेंगलुरू
54. भारत का बोस्टन -अहमदाबाद
55. गोल्डन सिटी -अमृतसर
56. सूती वस्त्रों की राजधानी - मुंबई
57. पवित्र नदी -गंगा
58. बिहार का शोक -कोसी
59. वृद्ध गंगा- गोदावरी
60. पश्चिम बंगाल का शोक- दामोदर
61. कोट्टायम की दादी- मलयाला
62. जुड़वा नगर --हैदराबाद- सिकंदराबाद
63. ताला नगरी -अलीगढ़
64. राष्ट्रीय राजमार्गों का चौराहा- कानपुर
65. पेठा नगरी -आगरा
66. भारत का टॉलीवुड- कोलकाता
67. वन नगर -देहरादून
68. सूर्य नगरी -जोधपुर
69. राजस्थान का गौरव- चित्तौड़गढ़
70. कोयला नगरी -धनबाद





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

Powered by Blogger.